Basudev Agarwal Naman
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'

बासुदेव अग्रवाल (28 अगस्त, 1952-) तिनसुकिया (असम) के रहने वाले हैं। उनकी शिक्षा - B. Com. है। उनकी रुचि काव्य की हर विधा में सृजन करना है। मुक्त छंद, पारम्परिक छंद, हाइकु, मुक्तक, गीत, ग़ज़ल, इत्यादि। हिंदी साहित्य के पारंपरिक छंदों में विशेष रुचि है और मात्रिक एवं वर्णिक लगभग सभी प्रचलित छंदों में काव्य सृजन करते हैं। वह साहित्य संगम संस्थान, पूर्वोत्तर शाखा के सक्रिय सदस्य हैं तथा उपाध्यक्ष हैं। उनकी रचनाएँ देश के सम्मानित समाचारपत्रों में नियमित रूप से प्रकाशित होती रहती हैं।

बासुदेव अग्रवाल 'नमन' की वर्णिक छंदों की कविताएँ

  • देश की हालत (पंक्तिका छंद)
  • देहाभिमान (पंचचामर छंद)
  • माँ के आँसू (पद्ममाला छंद)
  • श्याम शरण (पवन छंद)
  • सावन छटा (पावन छंद)
  • रामनवमी (पुट छंद)
  • बसंत-छटा (पुटभेद छंद)
  • राम-वंदन (पुण्डरीक छंद)
  • मधुर मिलन (प्रतिमाक्षरा छंद)
  • विकल मन (प्रहरणकलिका छंद)
  • राम कृपा (बिंदु छंद)
  • बसंत पंचमी (बुदबुद छंद)
  • कृष्ण-विनती (भक्ति छंद)
  • नोट बन्दी (भुजंग प्रयात छंद)
  • जीव-हिंसा (भूमिसुता छंद)
  • विरह विकल कामिनी (भृंग छंद)
  • शहीद दिवस (मंजुभाषिणी छंद)
  • कन्हैया वंदना (मकरन्द छंद)
  • मधुवन महके (मधुमती छंद)
  • माखन लीला (मनविश्राम छंद)
  • मनोज्ञा छंद (होली)
  • मलयज छंद (प्रभु-गुण)
  • मोटनक छन्द (भारत की सेना)
  • मौक्तिक दाम छंद (विनायक वंदन)
  • यशोदा छंद (सवेरा)
  • रक्ता छंद (शारदा वंदन)
  • रति छंद (प्यासा मन-भ्रमर)
  • रतिलेखा छंद (विरह विदग्धा)
  • रत्नकरा छंद (अतृप्त प्रीत)
  • रथपद छंद (मधुर स्मृति)
  • रमणीयक छंद (कृष्ण महिमा)
  • रमेश छंद (नन्ही गौरैया)
  • रसना छंद (पथिक आह्वाहन)
  • रसाल छंद (यौवन)
  • रुचि छंद (कालिका स्तवन)
  • रोचक छंद (फागुन मास)
  • वरूथिनी छंद (प्रदीप हो)
  • वर्ष छंद (बाल कविता)
  • विमलजला छंद (राम शरण)
  • विमला छंद (सच्चा सुख)