Kisan Majdoor Sangharsh 2020
किसान मजदूर संघर्ष 2020

किसान मजदूर संघर्ष 2020 से सम्बंधित कविताएँ हम 'हलधर फिर हुंकार उठे' कृति में प्रकाशित कर रहे हैं । जो भी कवि महोदय हमें इस विषय पर अपनी रचनाएँ भेजना चाहें उनका सहृदय स्वागत है ।

हलधर फिर हुंकार उठे

Haldhar Phir Hunkar Uthe

  • हम लौट जाएँगे-नरेंद्र कुमार (जलंधर)

  • टीवी चैनलों पर-नरेंद्र कुमार (जलंधर)

  • पहली बार-गुरभजन गिल

  • कोरा जवाब-गुरभजन गिल

  • अब आगे की बात करो-गुरभजन गिल

  • ये आग अब हो गयी बड़ी-भूपिन्दर सिंघ 'बशर'

  • सरहद पे नित मरते वीर-भूपिन्दर सिंघ 'बशर'

  • हमारे नुमाइंदे बन हमारी ही गर्दनों पर-भूपिन्दर सिंघ 'बशर'

  • जुल्म की हुई इन्तेहा-गुरप्रीत कौर

  • बड़ा विचलित है देश का चौकीदार-जोगिंदर आजाद

  • दिल जैसा तेरा नाम री दिल्ली-अरतिंदर संधू

  • मेरे गांव का किसान-सुभाष भास्कर (चंडीगढ़)

  • हल-मनोज छाबड़ा

  • किसान (1)-प्रियंका भारद्वाज

  • किसान (2)-प्रियंका भारद्वाज

  • मेरे पिता-प्रियंका भारद्वाज

  • शाही फ़कीर-मदन वीरा

  • ज़मीन से उठती आवाज़-बल्ली सिंह चीमा

  • लूट गेहूँ, बाजरे औ' धान की-प्रेम साहिल देहरादून

  • हलधर दोहे-डॉ. जसबीर चावला

  • भीष्म हलधर की निष्ठा-डॉ. जसबीर चावला

  • एक असभ्य सवाल-हूबनाथ

  • जलियांवाला बाग बना दो-डॉ. जसबीर चावला

  • खूनी रजाई, नेताजी!-डॉ. जसबीर चावला