Hindi Kavita Hindi Kavita 
 Hindi Kavita

Poems on Deepavali/Diwali

दीपावली/दीवाली पर कविताएँ

अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

दीपावली
दीप-माला
दीवाली
दीपावली के प्रति
अनुरोध
आकाश-दीप
दीप मालिका
दीवाली (चौपदे)
दमकती दीवाली
दिव्य दीवाली

नज़ीर अकबराबादी

दीवाली (हमें अदाएँ दीवाली की ज़ोर भाती हैं)
दोस्तो क्या क्या दिवाली में नशात-ओ-ऐश है
सामान दीवाली का

उदयभानु हंस

दीवाली

मैथिलीशरण गुप्त

दीपदान

फ़िराक गोरखपुरी

दीवाली के दीप जले

सत्यनारायण सिंह

आओ ज्योति-पर्व मनाएँ
दीप का संदेश
तेरा मेरा नाता
दीप प्रकाश
दिवाली दोहे

पूर्णिमा वर्मन

एक दीपक
एक दीप मेरा
आओ मिल कर दीप जलाएँ
दिया
मंदिर दियना बार

अटल बिहारी वाजपेयी

आओ फिर से दिया जलाएँ

माखनलाल चतुर्वेदी

दीप से दीप जले

पीयूष पाचक

चार फुलझड़ियाँ

हरिवंशराय बच्चन

आत्मदीप
आज फिर से तुम बुझा दीपक जलाओ

महादेवी वर्मा

मधुर-मधुर मेरे दीपक जल
दीप मेरे जल अकम्पित
दीप कहीं सोता है

आचार्य संजीव सलिल

दीपावली मनाएँ
 
 
 Hindi Kavita