Hindi Kavita
नज़ीर अकबराबादी
Nazeer Akbarabadi
 Hindi Kavita 

Manushya Jeevan Ke Rang Nazeer Akbarabadi

मनुष्य जीवन के रंग नज़ीर अकबराबादी

बचपन
बचपन के मज़े
जवानी
जवानी के मज़े
बुढ़ापा
बुढ़ापे की तअल्लियाँ
बुढ़ापे की आशिक़ी
जवानी बुढ़ापे की लड़ाई
मवाज़नए ज़ोरो कमज़ोरी
लूली पीर (बूढ़ी वेश्या)
सच्चे नफ़्श कुश (हीजड़े)
समधिन-1
समधिन-2
 
 
 Hindi Kavita