गुरू नानक देव जी
Guru Nanak Dev Ji
 Hindi Kavita 

गुरु नानक देव जी

गुरु नानक देव जी (१५ अप्रैल १४६੯–२२ सितम्बर १५३੯) सिख धर्म के संस्थापक थे । उनका जन्म राय भोइ की तलवंडी (ननकाना साहब) में हुआ, जो कि पाकिस्तान के शेखूपुरे जिले में है । उन के पिता मेहता कल्याण दास बेदी (मेहता कालू) और माता तृप्ता जी थे । उनकी बड़ी बहन बीबी नानकी जी थे । उनका विवाह माता सुलक्खनी जी के साथ हुआ । उनके दो पुत्र बाबा श्री चंद जी और बाबा लखमी दास जी थे । १५०४ में वह बीबी नानकी जी के साथ सुलतान पुर लोधी चले गए, जहाँ उन्होंने कुछ देर नवाब दौलत खान लोधी के मोदीखाने में नौकरी की । उन्होंने भारत समेत दुनिया के कई देशों की चार लम्बी यात्राएं (उदासियाँ) भी कीं । उन्होंने कुल ੯४७ शब्दों की रचना की । उन की प्रमुख रचनायें जपु जी साहब, सिध गोसटि, आसा दी वार, दखनी ओअंकार आदि हैं।

 
 
 Hindi Kavita