Hindi Kavita
गुरू नानक देव जी
Guru Nanak Dev Ji
 Hindi Kavita 

Poetry of Guru Nanak Dev Ji in Hindi

गुरू नानक देव जी

गुरू नानक देव जी (१५ अप्रैल १४६੯–२२ सितम्बर १५३੯) सिख धर्म के संस्थापक थे । उनका जन्म राय भोइ की तलवंडी (ननकाना साहब) में हुआ, जो कि पाकिस्तान के शेखूपुरे जिले में है । उन के पिता मेहता कल्याण दास बेदी (मेहता कालू) और माता तृप्ता जी थे । उनकी बड़ी बहन बीबी नानकी जी थे । उनका विवाह माता सुलक्खनी जी के साथ हुआ । उनके दो पुत्र बाबा श्री चंद जी और बाबा लखमी दास जी थे । १५०४ में वह बीबी नानकी जी के साथ सुलतान पुर लोधी चले गए, जहाँ उन्होंने कुछ देर नवाब दौलत खान लोधी के मोदीखाने में नौकरी की । उन्होंने भारत समेत दुनिया के कई देशों की चार लम्बी यात्राएं (उदासियाँ) भी कीं । उन्होंने कुल ੯४७ शब्दों की रचना की । उन की प्रमुख रचनायें जपु जी साहब, सिध गोसटि, आसा दी वार, दखनी ओअंकार आदि हैं।

 
 
 Hindi Kavita