Hindi Kavita
पाठकों की रचनायें
Reader's Poetry
 Hindi Kavita 

अभिषेक कुमार अम्बर

अभिषेक कुमार अम्बर (07 मार्च 2000-) का जन्म क़स्बा मवाना, मेरठ (उत्तर प्रदेश) में हुआ। आपने प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली से प्राप्त की। वर्ष 2014 से निरंतर हिंदी और उर्दू साहित्य की सेवा में समर्पित है। आप हास्य व्यंग्य कविता, गीत, ग़ज़ल, छंद आदि विधाओं में लिखते हैं मशहूर शायरा अंजुम रहबर के शिष्य हैं तथा साहित्यिक मंचों पर सक्रिय भूमिका में हैं।

हिन्दी कविता अभिषेक कुमार अम्बर

सरस्वती वंदना
हे वीणावादिनी मईया
और न कुछ भी चाहूँ
मिसेज डोली
मास्टर श्यामलाल
खिड़की को देखूँ
एग्जाम एंथम
साथ जबसे तुम्हारा मिला
जीवन है एक डगर सुहानी
मेहबूबा
जब तक मानव नही उठेगा
बसंत है आया
पहन के कोट पेंट
हाय ! रे ये माह फ़ाग
ख्वाब आँखों में जितने पाले थे
एक ख्वाहिश है बस दिवाने की

Hindi Poetry Abhishek Kumar Amber

Saraswati Vandana
He Veenavadini Maiya
Aur Na Kuchh Bhi Chahun
Mrs. Dolly
Master Shyamlal
Khirki Ko Dekhun
Exam Anthem
Sath Jab Se Tumhara Mila
Jiwan Hai Ik Dagar Suhani
Mehbooba
Jab Tak Manav Nahin Uthega
Basant Hai aaya
Pehan Ke Coat Pent
Haay Re Yeh Maah Phaag
Khwab Aankhon Mein Jitne Paale The
Ek Khwahish Hai Bas Diwane Ki
 
 
 Hindi Kavita