संजीव कुमार दुबे
Sanjiv Kumar Dubey
 Hindi Kavita 

संजीव कुमार दुबे

संजीव कुमार दुबे (31 मई 1967-) का जन्म उत्तर प्रदेश के जिला-औरैया के एक छोटे से गांव कटरा मनेंपुर फफूँद में ब्राह्मण परिवार में हुआ । इनके पिता श्री राम शंकर दुबे गांव के ही इंटर कॉलेज में संस्कृत के प्रवक्ता थे।इनकी प्रारंभिक शिक्षा स्थानीय स्तर पर हुई तथा कानपुर विश्वविद्यालय से एम.ए.( राजनीति शास्त्र) की शिक्षा ग्रहण की। वर्तमान में ये सीमा सुरक्षा बल (BSF) में असिस्टेंट कमांडेंट के पद पर बल मुख्यालय, नई दिल्ली में कार्यरत हैं। सीमा सुरक्षा बल की सेवा में रहते हुए देश के विभिन्न क्षेत्रों में पदस्थापना के दौरान वहां की भौगोलिक, आर्थिक एवं सामाजिक परिस्थितियों ने इनके मन पर गहरा प्रभाव डाला। सामाजिक कुरीतियों, अराजक व्यवस्थाओं एवं अन्य सामाजिक विषयों पर भी इनकी स्पष्ट सोच है, जिसको कि समय-समय पर कविता एवं लेखन के माध्यम से प्रकट करते रहते हैं। प्राकृतिक लावण्य, वात्सल्य एवं उपेक्षितों के प्रति संवेदना इनके स्वाभाविक विषय हैं।

हिन्दी कविताएं संजीव कुमार दुबे

प्रीत सदा ही गाता हूँ...
कैद है अहंकार मेरा...
यादें बचपन की