प्रशांत पारस
Prashant Paras
 Hindi Kavita 

प्रशांत पारस

प्रशांत पारस का जन्म २१जुलाई, १९९९ को हुआ । उनकी प्रकाशित पुस्तक 'आज़ादी के पंख' (काव्य संग्रह) है ।
'शौक रखता हूं दो नावों पर सवार होने की
अक्सर डूबने वाले ही किनारे की तलाश करते हैं'

हिन्दी कविता प्रशांत पारस

चुभन से भरी
बड़े बड़े इमारतों के बीच
बंद हो पिँजरे मेँ हम
खुले आसमाँ में आजादी के पंख
पेड़ो से फूल निकलते
देख मेरे भाई कलयुग आया
देर होती है नद को
 
 
 Hindi Kavita