किशन नेगी एकांत
Kishan Negi Ekant
 Hindi Kavita 

किशन नेगी 'एकांत'

किशन नेगी 'एकांत' इंदिरापुरम, ग़ज़िआबाद (U.P.) में रहते हैं। उन्होंने अपने बचपन का कुछ समय अपने गाँव उत्तराखंड में बिताया । प्रकृति के वातावरण में रहकर ही उन्हें लिखने में रूचि हुई। उनकी कॉलेज की शिक्षा दिल्ली यूनिवर्सिटी से हुई। उन्हें जीवन के विभिन्न पहलुओं पर लिखने व पढ़ने का शौक है ।

किशन नेगी 'एकांत' हिन्दी कविता

सावन की आयी है बौछार
आषाढ़ में कालिदास का पैगाम
 
 
 Hindi Kavita