गुरसिमरन सिंह
Gursimran Singh
 Hindi Kavita 

गुरसिमरन सिंह

गुरसिमरन सिंह (१५ जनवरी २००१ -) का जन्म पिता स. राजिन्दर सिंह और माता श्रीमती राजिन्दर कौर के घर हुआ। वह बी. एससी (आनरज़ -फिजिक्स) के विद्यार्थी हैं। पंजाबी, हिंदी और अंग्रेज़ी में कविता लिखना उनका शौक है।

हिन्दी कविताएं गुरसिमरन सिंह

असीम
मेरे लाखों गुनाहों की क्या है मजाल
नाकाम होने की भी इंतहा हो चली